Manuscriptology And Palaeography

Name of the Course/Paper Course/Paper Outline *
प्रथम सत्र (SEMESTER-I)  
1) लिपिविज्ञान
  • भारतीय (ब्राह्मी, खरोष्ठी, कुटिलआदि) एवंतत्सम्बन्धी (चम्पा, बर्मी, थाई, आदि) पुरालिपियोंकाउद्गम, विकासऔरऐतिहासिकमहत्त्व।
  • उपर्युक्तप्राचीनशिलालेखोंकाअध्ययनएवंऐतिहासिकमहत्त्व।
2) पाण्डुलिपिविज्ञान
  • पाण्डुलिपियोंकापरिचय,प्रकार,अध्ययनविधियाँऔरउनकीविशेषताएँ।
  • पाण्डुलिपिसम्पादनकीपूर्वप्रक्रियाएवंसामान्यशोधप्रविधि।
3) पाण्डुलिपिग्रन्थालयविज्ञान
  • पाण्डुलिपिग्रन्थालयोंकेमातृकारक्षण, सर्वेक्षण, अन्वेषणआदिव्यवस्थाओंकापरिचय, विकासऔरमहत्त्व।
  • पाण्डुलिपियोंकेसूचीकरणकेप्रकार, प्रयोगऔरउनकेनिर्माणकीप्रविधियाँ।
  • पाण्डुलिपियोंकेउपयोगसंसाधन(Access to Manuscript Resource)।
  • विवरणपंजिकाकी 50 प्रविष्टियोंकासंपादन।
4) लिपियोंकाप्रशिक्षण
  • ब्राह्मी, ग्रन्थ, शारदा, नेवारी, नन्दिनागरी,मैथिली, टाकरीऔरतिब्बतीआदि।
  • लिप्यन्तरणकार्य।
द्वितीय सत्र (SEMESTER-II)  
5) पाण्डुलिपिसंपादनविज्ञान
  • पाण्डुलिपिसंपादनएवंसमीक्षणप्रविधियाँ।
  • पाण्डुलिपिसंपादनकासंगणकीयप्रयोग।
  • चित्रितमातृकाअध्ययनएवंसमीक्षणविधि।
6) पुस्तकालयसंरक्षणविज्ञान
  • पाण्डुलिपियोंकेसंवर्धन(Preservation)औरसंरक्षण Conservation)केप्रकार, प्रयोगविधिएवंव्यवस्थाकेन्द्र।
  • पाण्डुलिपिसूक्ष्मचित्रण(Digitization)केप्रकारऔरप्रयोगविधिएवंव्यवस्थाकेन्द्र।
  • सुसूक्ष्मचित्रणपाण्डुलिपिग्रन्थालय (Manuscript Digital Libraries)।
7) लिपियोंकाप्रशिक्षण
  • मोड़ी, तिगलारी, मलयालम, कन्नड, तेलुगु, उड़िया, बंगला, असमी, मिताईऔरअन्यभारतीयएवंतद्भवलिपियाँ।
  • लिप्यन्तरणकार्य।
8) प्रायोगिकशोधकार्य
  • 25 -30 पत्रोंकीकिसीपाण्डुलिपिकासंपादन।
  • शोधप्रबन्धसम्बन्धितवाक्परीक्षा।