ks_054

Banarsidas Chaturvedi Ke Chuninda Patra

Rs.650.00

Edited By :Narayan Dutt
ISBN : 81-267-1109-4
2006, (in 2 vols.)
Rs.650.00
Categories: , ,

Product Description

बीसवीं सदी के पूर्वार्द्ध में नए हिन्दी समाज के निर्माण में साहित्य की भूमिका इतनी निर्णायक थी कि तब के हमारे सभी महत्त्वपूर्ण साहित्यकार नए समाज के निर्माता के रूप में भी जाने जाते हैं। बनारसीदास चतुर्वेदी भी उन्हीं में से एक थे। हिन्दी की जातीय संस्कृति तथा मनीषा के विकास के लिए उन्होंने सबसे अलग और मौलिक राह चुनी थी।…Read More